युवाओं को रोजगार दिलाने में मददगार बनेगी – टीम नेशनल ह्युमन वेलफेयर कॉउंसिल

474

इम्रान शेख,

गत दिवस नेशनल ह्युमन वेलफेयर कॉउंसिल के राष्ट्रीय चेयरमैन गुँजन मेहता ने अपने गरुग्राम कार्यालय में बैठक कर देश के युवाओं के बेहतर भविष्य को लेकर रोजगार के नए अवसरों पर व उन्हें सशक्त करने के लिए कई मुख्य बिंदुओं पर चर्चा की।
गुँजन मेहता ने बताया कि जहां एक ओर देश का व्यापारी व उधमी वर्ग कोरोना महामारी के कारण अब तक उभर नही पा रहा वही दूसरी ओर हरियाणा जैसे प्रदेश में निजी कार्यक्षेत्र में 75% प्रदेश के ही लोगो को रोजगार देने जैसे कानून बनाना ठीक नही।
अपनी आजीविका कमाने का अवसर सभी को समान रूप से व उनकी योग्यता के आधार पर मिलना चाहिए ।
अगर हम हरियाणा गुरुग्राम की ही बात करें तो मेहता ने बताया कि वह स्वयं गुरुग्राम इंडस्ट्रियल डेवलोपमेन्ट एसोसिएशन सेक्टर 37 का पिछले 4 वर्ष से हिस्सा है और यहां सबसे अधिक एक्सपोर्ट व ऑटो इंडस्ट्री से जुड़ी छोटी बड़ी फैक्ट्रियां है जहां अधिकतर बिहार,उत्तर प्रदेश व देश के कई अन्य राज्यो के कारीगर व श्रमिक कार्य करते हैं। ऐसी फेक्ट्रियो में भी यदि इस तरह के नियम लागू किये जायेंगे तो निश्चित तौर पर यहां की फैक्ट्रियां व उद्दमी हरियाणा से बाहर का रुख करेंगी जिससे हरियाणा में युवाओं के लिए बेरोजगारी ओर भी ज्यादा बढ़ जाएगी। आज पूरे विश्व मे सबसे अधिक युवा आबादी वाला देश है भारत पर क्या भारत का युवा सिर्फ राजनीतिक पार्टियों के झंडे उठाने के लिए रह गया है।
प्रदेश सरकारें युवाओं को रोजगार देने में लगातार विफल हो रही हैं रही सही आस सिर्फ प्राइवेट सेक्टर से ओर इनपर भी आरक्षण जैसे दबाव आएंगे तो स्थिति बहुत गंभीर होगी।
प्रदेश कोई भी हो पर वह भारत का ही हिस्सा है और भारत के हर नागरिक को अपनी प्रतिभा के अनुसार रोजगार का अवसर मिलना चाहिए।
टीम एन एच डब्ल्यू सी युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए हर सम्भव प्रयास करेगी ओर देश के अलग अलग राज्यो में अधिक से अधिक युवा सम्मेलनो व बैठकों के जरिये युवाओं को अपने साथ जोड़ेगी।